टेक्निकल एनालिसिस पार्ट 1- हिन्दी | प्राइस और वॉल्यूम | लाइन चार्ट | Masterclass by 5paisa School cover

टेक्निकल एनालिसिस पार्ट 1- हिन्दी | प्राइस और वॉल्यूम | लाइन चार्ट | Masterclass by 5paisa School

star star star star star 5 (10 ratings)

Instructor: Prof. Dr. Sangeeta Wats

Language: Hindi

Validity Period: Lifetime

#5paisaMasterClass 5paisa School के इस मास्टरक्लास में हम आपको टेक्निलक एनालिसिस से परिचय करवाएंगे। ट्रेडिंग में टेक्निकल एनालिसिस के जरिए मुनाफा कैसे बनाया जाता है ये भी बताएंगे। साथ ही टेक्निलक एनालिसिस के कॉन्सेप्ट्स जैसे ट्रेंड्स, कैंडलस्टिक पैटर्न, चार्ट पैटर्न और टेक्निलक इंडिकेटर्स के बारे में भी समझाएंगे। जुड़िए

#5paisaMasterclass टेक्निकल एनालिसिस पार्ट 1 (हिन्दी), आज शाम @4:15pm Dr. Sangeet Wats, Associate Professor, NMIMS के साथ। ये सेशन आपको टेक्निकल एनालिसिस से जुड़े अहम फैसले लेने में मदद करेगा। टेक्निकल एनालिसिस पार्ट 1- किसी स्टॉक की पिछली कीमत (प्राइस) देखकर भविष्य की कीमत (प्राइस) को अनुमान लगाना टेक्निकल एनालिसिस कहलाता है । टेक्निकल एनालिसिस में किसी शेयर की प्राइस में हो रहे बदलाव (मूवमेंट) को देखकर यह अंदाज़ा लगाया जाता है की शेयर ऊपर जायेगा या नीचे। इसमें शेयर की प्राइस और वॉल्यूम पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है। टेक्निकल एनालिसिस के हिसाब से कोई भी शेयर महंगा या सस्ता नहीं होता है बल्कि मार्किट ने उसे जो प्राइस दिया वही उसका सही प्राइस है टेक्निकल एनालिसिस के लिए तीन अहम पहुलओं को ध्यान में रखा जाता है: • प्राइस डिस्काउंट • प्राइस मूव्स इन ट्रेंडस • इतिहास खुद को दोहराता है Chart (चार्ट): टेक्निकल एनालिसिस में चार्ट का उपयोग करके स्टॉक की Past Price Movement का एनालिसिस किया जाता है चार्ट्स किसी कंपनी का शेयर ऊपर की तरफ जाने वाला है या नीचे की तरफ इसे पिक्चर के माध्यम से बताते है चार्ट भी कई प्रकार के होते है जैसे: Candlestick Chart , Heikin Ashi Chart, Line Chart etc. Chart Pattern (चार्ट पैटर्न): किसी स्टॉक की प्राइस एक सीधी रेखा में आगे नहीं बढ़ती है बल्कि वो समय के साथ ऊपर-नीचे होती रहती है जिसकी वजह से स्टॉक के चार्ट के अंदर कई छोटे-बड़े पैटर्न बन जाते है चार्ट पैटर्न का Technical Analysis में बहुत बड़ा योगदान होता है चार्ट पैटर्न किसी स्टॉक को कब खरीदना है और कब बेचना है उसका सिग्नल देते है। Price Action (प्राइस एक्शन): Price Action एक Trading Technique है जिसमें किसी भी स्टॉक के सिर्फ Price का ही विश्लेषण किया जाता है क्योंकि ट्रेडिंग में प्राइस को ही सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है। टेक्निकल एनालिसिस में कंपनी का एनालिसिस नहीं किया जाता है सिर्फ Share Price का Analysis किया जाता है और कई बार किसी फंडामेंटल न्यूज़ की वजह से शेयर बहुत ज्यादा बढ़ या गिर जाता है और इस बदलाव को टेक्निकल एनालिसिस की मदद से समझा नहीं जा सकता है और नुकसान संभव है। Line chart- लाइन चार्ट सबसे सीधा और आसान चार्ट होता है। इसमें केवल एक डाटा प्वाइंट होता है और उसी पर यह चार्ट तैयार किया जाता है। टेक्निकल एनालिसिस में सिर्फ एक चीज के लिए लाइन चार्ट बनाया जाता है– क्लोजिंग प्राइस को लेकर। ये चार्ट शेयर का भी हो सकता है और इंडेक्स का भी। हर दिन के क्लोजिंग प्राइस के लिए एक चार्ट पर एक बिंदु बनाया जाता है और उसके बाद उन सारे बिंदुओं को एक लाइन से जोड़ दिया जाता है जिससे लाइन चार्ट बन जाता है। अगर आप 60 दिन का डाटा देख रहे हैं तो उन सारे दिनों के क्लोजिंग प्राइस को जोड़कर एक लाइन खींची जाती है और लाइन चार्ट बन जाता है। 

Reviews
5
star star star star star
people 10 total
5
 
10
4
 
0
3
 
0
2
 
0
1
 
0
Other Courses